At the top…

DSC00998

मैंने जगत को आज
ऊंचाई से भी नाप लिया,

मैंने सपनो को आज
सच करके भी देख लिया,

बुलंदी हमेशा ऊंचाइयों की
मोहताज नहीं ही रही होगी
क्योंकि मैंने अक्सर ही
छोटों का ईमान ऊँचा पाया,

तेज़ रफ़्तार से दौड़ते लोग
शायद मंज़िल को जल्दी पाते होंगे
पर मैंने सच की डगर चलते
इंसानो को देर से सही दुरस्त पाया,

चकाचोद से भरी वह रोशन शाम
और उन आँखों का नूर दोनों ही
चमकने की फितरत रखते है
पर मैंने अक्सर ही
उस नूर की चमक को लाजवाब पाया,

गिरगिट तो फिर भी समजे
मैंने ‘इंसानो’ को रंग बदलते पाया

मैंने जगत को आज
ऊंचाई से भी नाप लिया,

मैंने सपनो को आज
सच करके भी देख लिया

                                                                                                              – जगत निरुपम

(Date: 29-Sep-2014  Place: At the top – Burj Khalifa,Dubai,United Arab Emirate – tallest man-made structure in the world as on date, at 829.8 m (2,722 ft))

Disclaimer

© આ બ્લોગમા રજૂ થયેલી કૃતિઓના હક્કો (કોપીરાઇટ) જે તે રચનાકાર ના પોતાના છે. આ બ્લોગ પર અન્ય રચયિતાઓની રચનાઓ મૂકવામાં આવી છે તેને કારણે જો કોઇના કોપીરાઇટનો ભંગ થયેલો કોઇને જણાય અને તેની મને જાણ કરવામાં આવશે, તો તેને તરત અહીંથી દૂર કરવામાં આવશે. Disclaimer : This blog is not for any commercial purposes. The entries posted on this blog are purely with the intention of sharing personal interest.

Translate